Digital Bhikhari : डिजिटल इंडिया का अनोखा भिखारी, सोशल मीडिया पर वायरल

Uk Tak News

Digital Bhikhari : इंडिया में कुछ सालों से डिजिटल इंडिया की पहल काफी तेजी से आगे बढ़ रही है। देश में ज्यादातर लेन देन डिजिटल माध्यम से हो रहे हैं। जिसमें यूपीआई के तहत पेटीएम, फोन पे, गूगल पे जैसे कई ऐप से मनी ट्रांजैक्शन किया जा रहा है। लेकिन बदलते समय के साथ समाज का हर वर्ग बदल रहा है। ठेली और रेहड़ी लगाने वाले तो डिजिटल हो रहे हैं, इसके साथ ही अब भिखारी भी डिजिटल हो गए हैं।

 

Digital Bhikhari  :  Digital Bhikhari :

Digital Bhikhari : बिहार के बेतिया में राजू नाम का एक भिखारी डिजिटल तौर पर भीख मांगता हुआ दिखाई दे रहा है। इस डिजिटल भिखारी की चार्चा आजकल हर तरफ हो रही है। ये भिखारी अपने गले में QR CODE की तख्ती टांग कर लोगों से भीख मांगता है। Digital Bhikhari

 

डिजिटल ट्रांजैक्शन से भीख : 

Digital Bhikhari :  बिहार में बेतिया के रेलवे स्टेशन पर राजू बचपन से भीख मांग रहा है। वहीं डिजिटल भीख मांगने पर उसका कहना है कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया से काफी प्रभावित हुआ है। वहीं राजू ने भीख मांगने के लिए डिजिटल युग में अपने आप को भी अपडेट कर लिया है। लोग अब राजू भिखारी को डिजिटल ट्रांजैक्शन के जरिए भीख दे रहे हैं। राजू के भीख मांगने के इस निराले अंदाज से लोग उसे खुशी-खुशी भीख दे रहे हैं। दरअसल राजू का कहना है कि लोग उसे छुट्टा नहीं है कहकर टाल देते थे, ऐसे में उसने नया तरीका अपनाया है।  Digital Bhikhari

ई-स्कैन वाली तख्ती :

Digital Bhikhari :राजू को लोग मंदबुद्दि कहते हैं ,लेकिन इस भिखारी की सोच स्मार्ट है। ये अपने गले में गूगल-पे, फोन-पे और  ई-स्कैन करने वाली तख्ती टांग रखता है और हाथ में टैब लेकर भिख मांगता है। जब लोगों के छुट्टे नहीं है कहते हैं, तो वो लोगों के सामने स्कैन वाली तख्ती रख देता है। राजू भिखारी का दावा है कि वो देश का पहला डिजिटल भिखारी है। वो खुद को लालू प्रसाद का बेटा और पीएम नरेन्द्र मोदी का भक्त बताता है। Digital Bhikhari

 

ये भी पढ़ें : रुद्रपुर के टोल प्लाजा पर चली तलवारें, दो घायल

Leave a Reply

Your email address will not be published.