Vidhansabha Election 2022 : गांव में आकर शर्मसार न हो वोट मांगने से पहले

Uk Tak News

Vidhansabha Election 2022 : उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में अब कुछ ही समय रह गया है। ऐसे में सभी राजनीतिक नेता डोर टू डोर चुनावी कैंपियन में लगे हैं। लेकिन राजधानी देहरादून में एक ऐसा गांव है जहां गांव वालों ने प्रत्याशीयों के लिए एक ऐसा पोस्टर लगाया है।

Vidhansabha Election 2022

Vidhansabha Election 2022 : जिसको देखकर चुनावी पार्टियां ही नहीं बल्कि जनता भी हैरान है। पोस्टर में लिखा गया है कि इस गांव में आकर शर्मसार न हो वोट मांगने से पहले सभी राजनीतिक दलों को गांव की सड़क पानी की लाइन और अन्य समस्याओं को देखकर वोट मांगने पर शर्म आयेगी।

Vidhansabha Election 2022 :

Vidhansabha Election 2022
मूलभूत सुविधाएं नहीं :
Vidhansabha Election 2022 : देहरादून के आज के समय में भी केशरवाला गांव में मूलभूत सुविधाओं का अभाव है। इसके लिए स्थानीय लोग काफी लंबे समय से सुविधाओं की मांग कर रहे हैं। लेकिन इनकी मांगों को हमेशा नकारा गया है और चुनाव के समय में गांव वालों ने वोट मांगने आए राजनीतिक नेताओं के लिए यह पोस्टर गांव के बाहर ही लगा दिया है। राजधानी देहरादून का यह गांव रायपुर विधानसभा और नगर निगम वार्ड नंबर 1 के अंदर आता है जहां मूलभूत सुविधाएं ना होने पर गांव वालों ने चुनाव में प्रत्याशियों के लिए यह बैनर चुनौती दे रहा है।

Vidhansabha Election 2022

सड़क तक नहीं :
Vidhansabha Election 2022 : केशरवाला गांव के ग्रामीणों ने बताया है कि गांव में सड़क की मांग करते हुए कई दशक हो गए लेकिन आज तक यहां पर सड़क भी नहीं पहुंची है। महज डेढ़ किलोमीटर की सड़क के निर्माण के लिए ग्रामीणों ने मंत्री विधायक और सीएम से लेकर पीएम के सामने तक अपनी समस्या रखी थी। लेकिन सुनवाई किसी की भी आगे नहीं हुई है। राजधानी देहरादून से केवल 7 किलोमीटर दूर केशरवाला गांव में लोग पलायन को मजबूर हो गए हैं।

Vidhansabha Election 2022

ग्रामीणों का कहना है कि साल 2012 में यहां सड़क के लिए विधायक के द्वारा 50 लाख की स्वीकृति दे दी गई थी और जेसीबी से काम भी शुरू हुआ था। लेकिन यह जगह सेना की है का हवाला देकर काम बंद करवा दिया गया।

ये भी पढ़ें : प्रियंका गाँधी क्यों बोली गरीब जनता भगवान् भरोसे 

Leave a Reply

Your email address will not be published.