Pulwama Attack : भारत के इतिहास में जवानों के खुन से लिखा है 14 फरवरी का दिन

Uk Tak News

Pulwama Attack : 14 फरवरी 2019 का दिन इतिहास में जम्मू-कश्मीर की एक दुखद घटना के साथ दर्ज है। 14 फरवरी के दिन भारत में पुलवामा हमला हुआ था। जिसमें भारत ने अपने सीआरपीएफ के 40 वीर जवानों को खो दिया था। यह हमला जम्मू और कश्मीर के पुलवामा ज़िले के अवन्तिपोरा के निकट लेथपोरा इलाके में हुआ था।

Pulwama Attack : Pulwama Attack
40 जवानों की शहादत :

Pulwama Attack : 14 फरवरी 2019 को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले अवन्तिपोरा क्षेत्र में आतंकवादियों द्वारा भारत के सीआरपीएफ कि बस को निशाना बनाकर महिंद्रा स्कॉर्पियो से टक्कर मारी गई। धमाका इतना भयंकर था कि बस पूरी तरह से नष्ट ​हो गई। इस हमले में लगभग सीआरपीएफ के 40 वीर जवान शहीद हुए साथ ही कई अन्य जवान घायल हुए। वहीं सीआरपीएफ के जवानों का कहना था कि हमलावरों को ना माफ करेंगे और ना ही कभी भूल पाएंगे।

Pulwama Attack :    Pulwama Attack 
भारत में काला दिन :

Pulwama Attack : माना जाता है, कि आतंकियों ने इस हमले में महिंद्रा स्कॉर्पियो में 300 किलोग्राम से अधिक का विस्फोटक रखा था। जिससे बस पूरी तरह से नष्ट ​हो गई। धमाका इतना बड़ा था कि 10 किलोमीटर दूर तक की आवाज सुनाई दी थी। मौके पर ही कई जवानों ने अपना दम तोड़ दिया था साथ ही पूरी दुनिया में इस घटना की निंदा की जा रही। इस हमले की ज़िम्मेदारी पाकिस्तान स्थित आतंकवादी समूह जैश-ए-मोहम्मद ने ली। तब से 14 फरवरी का दिन भारत में काला दिन रूप में भी मानाया जाता है।

Pulwama Attack :

12 दिन में लिया बदला :
Pulwama Attack : इस हमले के बाद पूरे देश में गुस्से का माहौल था। हालांकि इसका बदला भारत ने महज 12 दिन में ही पाकिस्तान से ले लिया था। आपको बता दें 26 फरवरी को बालाकोट एयर स्ट्राइक में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों को भारतीय जवान ने ढेर कर दिया था। जानकारी के अनुसार स्ट्राइक में 300 आतंकियों को भारतीय जवानों ने ढेर कर दिया था। इसकी पूरी जिम्मेदारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एनएसए अजीत डोभाल को दी थी साथ ही इसमें वायु सेना प्रमुख बीएस धनोआ ने अहम भूमिका निभाई थी।

ये भी पढ़ें : प्रदेश की 70 विधानसभा सीटों पर मतदान जारी, वोटिंग के लिए खासा उत्साह

Leave a Reply

Your email address will not be published.