Shani Dham Temple : हरिद्वार के आठ प्रवेश द्वारों पर क्यों स्थापित है भगवान शनिदेव के मंदिर ?

Uk Tak News

Shani Dham Temple : उत्तराखंड का हरिद्वार मॉं गंगा के लिए विश्व प्रसिद्ध है। मगर इस धर्मनगरी की रक्षा के लिए यहां के प्रवेश द्वारों पर भगवान शनिदेव के मंदिर स्थापित किए गए हैं। धर्मनगरी हरिद्वार में सबसे पहला शनि भगवान का मंदिर 25 साल पहले बहादराबाद क्षेत्र में स्थापित किया गया था। इसके बाद शहर के आठ प्रवेश द्वारों पर शनि देव के मंदिरों की विधिवत स्थापना की गई है।

Shani Dham Temple : Shani Dham Temple

ये है मान्यता :

Shani Dham Temple : मान्यता है कि बहादराबाद-हरिद्वार मार्ग पर पच्चीस साल पहले तक काफी सड़क दुर्घटनाएं हुआ करती थीं। इसे देखते हुए इस मार्ग पर पहला सिद्ध शनि धाम स्थापित किया गया। इसके बाद इस मार्ग पर होने वाली सड़क दुर्घटनाओं के आंकड़े में काफी कम हो गए। इस के बाद हरिद्वार के तमाम प्रवेश द्वारों पर शनि देव मंदिर स्थापित किए गए  है। कहा जाता है कि शनि भगवान प्रवेश द्वारों पर स्थापित होकर पूरे शहर की रक्षा करते हैं और लोगों को न्याय भी दिलाते हैं।

Shani Dham Temple :  Shani Dham Temple

हर शनिवार को भीड़ : 

Shani Dham Temple :शनिदेव के इस मंदिर में विशेष रूप से सभी नव ग्रहों की प्राण प्रतिष्ठा कर स्थापित किए गए है। जिस तरह यहां शनि भगवान की विधिवत पूजा अर्चना होती है, उसी तरह स्थापित किए गए इन सभी ग्रहों को भी पूजा जाता है साथ ही प्रत्येक शनिवार को यहां सुबह से ही लोगों की भीड लग जाती है साथ ही दोपहर में यहां विशाल भंडारे का आयोजन होता है और शाम को कीर्तन के बाद पूजा देर रात तक आयोजित की जाती है। Shani Dham Temple

ये भी पढ़ें : यूपी में चुनाव प्रचार करेंगे सीएम धामी और बीजेपी के 80 नेता

Leave a Reply

Your email address will not be published.